तरैया थाना, प्रखंड कार्यालय व अस्पताल में पानी भरने से संपर्क टूटा

0
13

सारण तटबंध पांच-छह दिन पहले गोपालगंज में टूट गया था। जिसके टूटने से तरैया प्रखंड के दर्जनों गांव जलमग्न हो गए है। करीब 30 गांव पूरी तरह से पानी से घीर गए हैं। इनका संपर्क प्रखंड मुख्यालय व अस्पताल से टूट गया है। हालांकि प्रखंड कार्यालय, थाना व अस्पताल भी बाढ़ के पानी से घि गया है। यहां दो से तीन फीट पानी बह रहा है। पोखरेड़ा, डुमरी,माधोपुर,पचभिण्डा,चंचलिया,पचौड़र,तरैया पंचायत के गांव बाढ़ की चपेट में आ गए है। इसमें हरदासचक, फरीदनपुर,शीतलपुर, मुकुंदपुर, चकिया,चांदपुरा,उसरी,नवरत्नपुर,डुमरी,अंधरबारी, सिरमी,शितलपट्टी,सानी खराटी,सिरमी टोला,गलिमापुर चैनपुर,लौवा,बगही,पोखरेड़ा,पीपरा,माधोपुर बड़ा,भलुआ कोड़र,भलुआ शंकर डीह,भलुआ भिखारी,राजधानी,आकुचक टीकमपुर,पट्टी पचौड़र देवरिया बेलहरी,मुरलीपुर,हरखपुरा,बगही हरखपुरा,तरैया मछली बाजार,सब्जी बाजार, रामकोला,खराटी दलित बस्ती,बाढ़ से विशेष रूप से प्रभावित है। बाढ़ व बारिश का पानी चारों तरफ तेजी से अपना पांव पसार रहा है। सारण तटबंध के पश्चिमी क्षेत्रों में स्थित गांव बाढ़ की त्रासदी झेल रहे है।जबकि पूर्वी क्षेत्रों में पानी घट रहा है। ग्रामीण लालबाबू साह, राजेंद्र सिंह व अन्य से बताया कि 2001 व 2017 में आए बाढ़ से ज्यादा भयंकर है। इस बाद बाढ़ की विभीषिका ज्यादा कहर बरपाने वाली है। बाजार स्थित खदरा नदी पर बने डायवर्सन पर छह फीट पानी बह रहा है। डायवर्सन का नमो निशान मिट गया है। वही देवरिया उच्च विद्यालय सड़क व खराटी-शितलपट्टी ग्रामीण व लौवा-पोखरेड़ा ग्रामीण सड़क व अन्य ग्रामीण सड़कों पर लगभग दो फीट पानी बह रहा है। वहीं थाना,अस्पताल व प्रखंड मुख्यालय में पानी भर जाने के कारण इसे तरैया बाजार पर शिफ्ट करने की प्रक्रिया चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here