पूर्णिया जिला में 16 जनवरी से शुरू होगा कोविड-19 का टीकाकरण

0
26

# तैयारियों को लेकर जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में हुई बैठक
# टीकाकरण स्थल पर होगी विशेष व्यवस्था, बनाए जाएंगे टीकाकरण दल
# टीकाकरण स्थल पर उपलब्ध रहेगी लाभार्थियों की सूची

पूर्णिया जिले में भी कोविड-19 महामारी के नियंत्रण के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत 16 जनवरी से शुरू होगी। टीकाकरण अभियान के पहले चरण में को-विन पोर्टल पर दर्ज सभी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाना है। इसकी तैयारियों को लेकर जिला पदाधिकारी राहुल कुमार की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में सोमवार को एक अहम् बैठक हुई। बैठक में जिला पदाधिकारी ने बताया कि प्रथम चरण के टीकाकरण के लिए टीकाकरण सत्र का चयन हो चुका है। इन सत्रों में 16 जनवरी से कोविड टीकाकरण की शुरुआत की जाएगी। इसके अलावा सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाना है। बैठक में टीकाकरण के समय सरकार द्वारा कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचाव के लिए पूर्व में निर्गत दिशा- निर्देशों का अनुपालन एवं सत्र स्थल पर सभी जरूरी व्यवस्था उपलब्ध रखने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। बैठक में डीडीसी मनोज कुमार, अपर समाहर्ता, डीएसपी, सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा, एसीएमओ डॉ. एस के वर्मा, डीआईओ सुभाष चन्द्र पासवान, डीपीएम (चिकित्सा) ब्रजेश कुमार सिंह, आईसीडीएसडीपीओ शोभा सिन्हा के साथ ही यूनीसेफ, केयर, डब्लूएचओ, यूएनडीपी आदि के सदस्य भी उपस्थित रहे।

टीकाकरण के लिए किया गया है सत्र स्थल का निर्धारण 

बैठक में जिलाधिकारी राहुल कुमार ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण के प्रथम चरण के लिए पूरे पूर्णिया जिला में 09 सत्र स्थल लिए चिह्नित किए गए हैं। जिसमें सदर अस्पताल, पूर्णिया, अनुमंडलीय अस्पताल बनमनखी , कम्युनिटी हेल्थ सेंटर भवानीपुर एवं कसबा, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जलालगढ़ एवं डगरुआ और रेफरल अस्पताल धमदाहा एवं रुपौली शामिल हैं । इसके अलावा प्राइवेट हॉस्पिटल के रूप मैक्स-7 को भी टीकाकरण स्थल के लिए चयनित किया गया है। इन स्थलों पर कोविन पोर्टल पर दर्ज स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाएगा । पूर्णिया में कुल 13 हजार 894 स्वास्थ्य कर्मियों का डाटा कोविन पोर्टल पर दर्ज है । सभी कर्मियों को चयनित स्थलों के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी टीके लगाए जाएंगे । जिलाधिकारी ने बताया कि आमलोगों को अगले सत्र में उनके नजदीकी निर्वाचन बूथ पर ही टीका दिया जाएगा ।

टीकाकरण स्थल पर होगी विशेष व्यवस्था एवं टीकाकरण दल का होगा गठन 

जिलाधिकारी राहुल कुमार ने कहा कोविड टीकाकरण के लिए सत्र स्थल पर विशेष व्यवस्था रहेगी । सत्र स्थल पर टीकाकरण के लिए तीन कक्ष बनाए जाएंगे । प्रथम कक्ष लाभार्थियों हेतु वेटिंग एरिया के लिए, दूसरा कक्ष टीकाकरण के लिए और तीसरा कक्ष टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थियों की निगरानी के लिए उपलब्ध रहेगा । सभी सत्र स्थल पर लाभार्थियों के लिए पर्याप्त मात्रा में बेड, कुर्सी या बेंच इत्यादि उपलब्ध रखी जाएगी । एक दिन में एक टीकाकरण स्थल पर केवल 100 लाभार्थियों को ही टीका लगाया जाएगा । प्रत्येक 100 लाभार्थियों के लिए 1 टीकाकरण दल का गठन किया जाएगा । टीकाकरण दल में भीड़ नियंत्रण एवं सुरक्षा के लिए एक सुरक्षाकर्मी, लाभार्थियों को सत्यापित करने के लिए सत्यापनकर्ता, टीकाकरण के लिए टीकाकर्मी, टीकाकर्मी को सहयोग देने एवं टीकाकरण के पश्चात 30 मिनट तक लाभार्थी के अवलोकन करने के लिए दो उत्प्रेरक उपलब्ध रहेंगे । सत्यापनकर्ता के रूप में दक्ष डाटा ऑपरेटर को बहाल किया जाएगा । टीकाकरण दल को टीकाकरण से पूर्व पहचान पत्र उपलब्ध कराया जाएगा । .

टीकाकरण स्थल पर उपलब्ध रहेगी लाभार्थियों की सूची 

बैठक में जिलाधिकारी राहुल कुमार ने टीकाकरण के प्रथम चरण के लिए सभी टीकाकरण सत्र स्थल पर लाभार्थी स्वास्थ्य कर्मियों की सूची पूर्व से ही उपलब्ध रखने का निर्देश दिया है । इसके लिए कोविन पोर्टल के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं की सूची 14 जनवरी तक सम्बंधित टीकाकरण स्थल पर उपलब्ध कराने के लिए सिविल सर्जन को निर्देश दिया है । इस सूची में सभी स्तर के स्वास्थ्य कर्मी जिसमें डॉक्टर, एएनएम, आशा, आईसीडीएस कर्मी, पैथोलॉजिस्ट, डाटा एंट्रीऑपरेटर आदि का ब्यौरा उपलब्ध रहेगा जिसे टीका लगाया जाएगा ।

जरूरी सुविधा उपलब्ध कराने का मिला है निर्देश 

जिलाधिकारी ने बैठक में कहा कि जिले में 21 डीप फ्रीजर, 4 बड़ा आईएलआर व 8 छोटा आईएलआर उपलब्ध है । इन सभी को 15 जनवरी एवं कोविड-19 टीकाकरण से सम्बंधित आवश्यक लॉजिस्टिक को 14 जनवरी तक ही टीकाकरण स्थल पर उपलब्ध कराया जाए । इसके अलावा टीकाकरण केंद्र पर समुचित मात्रा में हैंड सैनिटाइजर, मास्क की व्यवस्था रखने व साफ सफाई का पूर्ण रूपेण ध्यान देते हुए पूर्व में निर्गत प्रोटोकॉल का अनिवार्य रूप से अनुपालन करने का भी निर्देश दिया गया है । टीकाकरण पश्यात लाभार्थी को किसी को किसी तरह की परेशानी से निपटने के लिए सत्र स्थल पर एनाफएलेसिस किट एवं एईएफआई किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहेंगे । टीकाकरण के शुभारंभ और कार्यक्रम को इंटरनेट के जरिए वीडियो वेबकास्ट भी कराया जाना है । जिलाधिकारी ने वेबकास्टिंग के लिए डाटा ऑपरेटर को प्रशिक्षित करने एवं कार्यक्रम की नियमित मॉनिटरिंग के लिए सभी प्रखंड स्तर पर कंट्रोल रूम बनाने का निर्देश दिया है । इसके साथ ही जिलाधिकारी ने टीकाकरण के शुभारंभ से पूर्व 15 जनवरी को प्रेस ब्रीफिंग आयोजित करने का भी निर्देश दिया है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here