बाढ़ प्रभावित एरिया में तीन दिनों में सेल्फी के चक्कर में कई लोग गिरे

0
75
प्रखंड प्रशासन ने जारी किया अलर्ट,सेल्फी से दूर रहने की अपील
रौशन कुमार पत्रकार
परसा:-सेल्फी के जरिए सोशल मीडिया पर लाइक,कमेंट्स की वाहवाही तो ठीक है लेकिन इसकी कीमत जानना हो तो इससे बचना ही सही है। बाढ़ प्रभावित एरिया में पानी के बीच में सेल्फी लेने का आपका शौक आपकी जान पर भारी पड़ सकता है।जी हां,ग्रामीण बता रहे हैं कि सिर्फ तीन दिन में सेल्फी के चक्कर में छह लोगों की पानी मे बह जाने से दुर्घटनाग्रस्त हो चुके है।अब तो प्रखंड प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है।बीडीओ रजत किशोर सिंह,सीओ रामभजन राम ने सेल्फी लेने पर रोक लगाते हुए कहा है कि ऐसा होने पर अपने साथ होने वाले हादसे के लिए आप खुद जिम्मेदार होंगे।
सेल्फी लेते हुए बह गए
प्रखंड क्षेत्र में शुक्रवार से ही बाढ़ की तबाही जारी है।ग्रामीण क्षेत्रों के बाढ़ प्रभावित इलाकों में मददगारों से ज्यादा तमाशबीनों का तांता लगा हुआ है। बाढ़ में फंसे लोगों को राहत देने के बजाय तमाम लोग खतरनाक जगहों पर सेल्फी लेने में लगे हैं। इस कारण तीन दिनों के भीतर छह लोग पानी में समा चुके हैं। वहीं बाढ़ की चपेट में आने से कुल 6 लोग पानी से दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं।
इतने हादसे
शुक्रवार:-परसा अंजनी मकेर मुख्य मार्ग पर सेल्फी के चक्कर में एक किशोर पानी में समा गया।
शनिवार:-बनौता पंचायत में साइकिल धोने की सेल्फी ले रहे दो किशोर पानी में बह गए।
रविवार:-मुजौना गांव में तीन युवक हादसे के शिकार हुए।
परसा प्रखंड प्रशासन ने जारी की गाइड लाइन
बीडीओ रजत किशोर सिंह व सीओ रामभजन राम ने बताया कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में बेवजह जाने से बचें।सिर्फ राहत-बचाव के लिए ही पहुंचें।बाढ़ के पानी में नहाने का प्रयास न करें। नदी की धारा की तरफ कतई न जाएं।टॉयर-ट्यूब, थर्मोकोल अन्य जुगाड़ वाले बोट पर मौज मस्ती के लिए न चढ़ें।बांध पर दबाव बना हुआ है। कटान की संभावना को देखते हुए तमाशा देखने से बचें।सेल्फी लेने, मौज-मस्ती करने वालों के डूबने पर उनकी खुद की जिम्मेदारी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here