भाजपा नेता सह दरभंगा एमएलसी सुनील कुमार सिंह के निधन के बाद गम में डुबा कार्यकर्ता

0
33

दरभंगा बिरौल से शंकर सहनी की रिपोर्ट

भाजपा एमएलसी सुनील कुमार सिंह के निधन होने से जिलावासी गम में डूब गया है.उनके निधन होने से सभी दलों के नेता, कार्यकर्ता, युवा वर्ग, गरीब, गुर्गा सभी मर्माहत है.मालूम हो कि एमएलसी स्व सिंह का निधन पटना एम्स में इलाज के दौरान हो गयी.वे कोरोना संक्रामित होने के कारण वे एम्स में इलाज के लिये भरती थे, जहा उनका इलाज छह रोज से चल रहा था. जहा अचानक दिल का दौड़ा पड़ने से उनका निधन हो गया. गौरतलब हो कि सिंह राजनीति की शुरुआत पंचायत मुखिया से की, वे पहली बार 2001 मे मुखिया के पद पर चुने गये, इसके बाद 2006 में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पंचायत समिति सदस्य से विजय हासिल कर प्रखंड उप प्रमुख्य पद पर सुशोभित हुए, इस अवधि में में ही निर्दलीय विधान परिषद सदस्य के पद के लिये चुनाव लड़े, जहा हार का मुंह देखना पड़ा.लेकिन इसके बाद भी वे राजीनीति भागदारी नहीं छोड़ी, लगातार क्षेत्र में लोगो से मिलते रहे. जब तक कि मंजिल नहीं मिल जाय, अपनी राजनीति चाल कायम रखा. शांत सुहाब के चेहरों पर मुस्कराहट हमेशा झलक दिखाई देने वाला वे पुनः 2015 में एमएलसी के चुनाव बड़ी ताम झाम के साथ लड़े, और बिजय हासिल किया. लोगो के दुख दर्द में हमेशा खड़े रहने वाले सिंह दुनिया को छोड़ बसे. उनके निधन होने से पार्टी से लेकर क्षेत्रवासी को अपूर्ण क्षति पहुँचा है. अपने पीछे दो पुत्र व पत्नी को इस दुनिया को अलविदा कर दिए.बड़े पुत्र सुजीत सिंह जो सरकारी नौकरी में बड़े पद पर पदस्थापित है.छोटे लड़के रंजीत सिंह एक बड़े व्यवसायी है, अपने पिता के सहयोग में हाथ बटाते थे. उनके निधन पर भाजपा नेता मनोज कुमार झा, रामबिलास भारती, बिनोद चौधरी, राज कुमार सहनी, जदयू के संजीव झा, समाजसेवी पप्पू सिंह, विधायक प्रतिनिधि शिबू झा, प्रभात सहनी, वीआईपी के जिलाध्यक्ष बिनोद बम्पर, राजू अग्रवाल, सनोज नायक, कांग्रेस के पूर्व प्रत्यासी डॉ नागेश्वर पंजियार, जितेंद्र चौधरी, पूर्व विधायक डॉ इजहार अहमद, पूर्व मुखिया अबुल हयात, मो शमीम,लालो चौपाल, भुवन झा, पिंकू सिंह, दीपक सिंह, सुरेंद्र आचार्य आदि लोगो ने शोक संवेदना प्रकट किया है. सिंह के निधन होने से लोगो को हमेशा कमी खलती रहेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here