भारत-चीन के बीच गलवान घाटी में हुई झड़प में सारण के परसा के लाल शाहिद

0
249

रौशन कुमार 

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के के जवानों के बीच झड़प हुई। गलवान घाटी में सोमवार की रात चीन और भारत के सेनाओं के बीच खूनी झड़प में भारत के तीन जवान शहीद हो गए। इसमें एक अफसर शामिल है। तीन जवानों में एक जवान सुनील कुमार छपरा जिले के परसा थाना क्षेत्र के दीघरा परसा गंाव के है। मंगलवार की शाम साढ़े पांच बजे सुनील कुमार की पत्नी मेनका राय को फोन आया।बताया गया कि उनका पति चीन के ग्लेशियर बॉर्डर पर शहीद हो गये। उसके बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। सुनील कुमार के पिता सुखदेव राय है। वह बारह साल पहले थल सेना से सेवानिवृत है। अभी के समय में बंगाल में सेंकड सर्विस कर रहे है। सुनील कुमार दो भाई है। वह सबसे बड़े थे। छोटा भाई अनिल कुमार घर पर रहता है। मां मोगली देवी का रो-रोकर बुरा हाल है। बार-बार बेसुध हो जा रही है।

तीन साल की है बच्ची

शहीद सुनील कुमार का तीन साल की बच्ची है। उसे अभी इतना समझ भी नहीं कि उसके पिता को क्या हुआ है। साढ़े तीन साल पहले सुनील की मेनका राय से शादी हुई है।

होली में एक माह रहने के बाद गये थे सुनील

शहीद सुनील होली के समय में मार्च 2020 में घर दीघरा परसा आये थे। वह घर पर एक माह तक रहे। उसके बाद छुट्टी पूरा होने के बाद ग्लेशियर बॉर्डर पर ड्यूटी ज्वाइन करने चले गये। पिछले एक सप्ताह से परिजनों से बातचीत भी नहीं हुई थी।
बुधवार को आएगा शव
बुधवार को वहां से पटना के लिए फ्लाइट से शव लाया जायेगा। उसके बाद पटना में श्रद्धांजलि देने के बाद शव को सम्मान के साथ परसा उनके घर पर लाया जायेगा।

टीवी पर झड़प की खबर सुनकर लोग थे चिंतित


एसपी हरकिशोर राय ने बताया कि लद्दाख में परसा के दीघरा का एक जवान शहीद है। इसकी विभागीय जानकारी मिली है। कल शव सम्मान के साथ लाया जायेगा। जहां गार्ड ऑफ ऑनर दिया जायेगा। परिजन जब टेलिविजन पर चीन के लद्दाख में झड़प और शहीद होने की खबर देख रहे थे तो सुनील को लेकर चिंतित थे। उन लोगों को इसकी जानकारी उस वक्त नहीं थी। साढ़े पांच बजे जब पत्नी के नंबर पर अधिकारी ने जानकारी दी तो कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। आसपास के लोग उन्हें सांत्वना देने में लगे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here