मुज्जफरपुर में सैकड़ों घर हटाने पहुंचे प्रशासन के खिलाफ हंगामा शुरू कर महिलाओं ने मोहल्ले में दिया धरना

0
209

मुज्जफरपुर से अरविंद अकेला की रिपोर्ट

मुज्जफरपुर नगर निगम क्षेत्र के वार्ड संख्या-39 स्थित महाराजी पोखर के निकट बसी हुई सैकड़ों घर हटाने के विरोध में सैकड़ों पीड़ित महिलाओं ने मोहल्ले में धरना दिया। इस दौरान बिहार सरकार के विरोध में महिलाओं ने जमकर नारेबाजी भी किया। इस दौरान धरने पर बैठी महिलाओं ने कही कि हमलोगों महाराजी पोखर के आसपास करीब 50 साल से 100 से ज्यादा गरीब परिवार बसे हैं। लेकिन जल-जीवन-हरियाली योजना व पोखर के सौंदर्यीकरण के नाम पर इस कोरोना संकट एवं बरसात के दौरान उजारा जा रहा है जो गलत है। साथ ही अंचलाधिकारी मुशहरी की ओर से जारी नोटिस को निरस्त करने की मांग जिला प्रशासन से की। कही कि गरीबों को हटाने की नोटिस हमलोगों की जिंदगी को जोखिम में डालना है। सरकार कोरोना काल में गरीबों को उजाड़ने पर रोक लगाए। सरकार शहर के झुग्गी-झोपड़ी में बसे गरीबों को हटाने के बदले उनको बासकित पर्चा दे तथा स्थाई कॉलोनी, शुद्ध पेयजल तथा शौचालय मुहैया कराने की गारंटी दे। नहीं तो हम लोग अपनी जान दे देंगे यहां से हटेंगे नहीं क्योंकि हम लोगों के पास छोटे-छोटे बच्चे हैं और कोरोना महामारी के बीच लगे लॉकडाउन की वजह से खाने को अन्य नहीं है और इस परिस्थिति में हमें इस तरह से घर छीना जा रहा है सरकार अगर हमारी घरों को उजाड़ना चाह रहे हैं तो उनको हम लोगों के लाशों पर से गुजरना होगा नहीं तो शरीर का एक-एक कतरा भी हम अपने घर को बचाने में लगाएंगे जब तक मांग पूरा नहीं हो जाता तब तक यह धरना जारी रहेगा।आपको बताते चलें कि एस पोखर के भीड़ में बसे करीब 107 घर है जिसमें करीब 600 परिवार बसते हैं जिन्हें आज हटाने के लिए पहुंचे भारी संख्या में पुलिस बल एवं जिला प्रशासन जिसके बाद लोगों ने जमकर विरोध किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here