शहीद के परिजनों को नहीं मिल रहा है कोई सरकारी लाभ ,शहीद की पत्नी कर्ज लेकर खाने पर हुई मजबूर

0
354

खगड़िया से जगदीप कुमार की रिपोर्ट

खगड़िया जिला के अंतर्गत पाक सेना से जम्मू-कश्मीर के पुंछ के शाहपुर और किरनी सेक्टर में भारी गोलाबारी की। इस गोलाबारी में खगडिय़ा के लाल सेना में तैनात जवान मोहम्मद जावेद अली शहीद हो गए थे।आज उनकी शहादत दिवस है ।आज भी इनके घर मे वहीं चीख दर्द गूंज रही है।आपको बताते चले माड़र स्थित ईदगाह मुहल्‍ला के रहनेवाले थे जावेद,लेकिन इनकी शहीद होने पर इनके नाम से शहीद जावेद नगर इनके मुहल्ले की नाम रख दी गई है।तो वहीं फरवरी 2010 में सेना में योगदान किया था जावेद ने। शहीद की पत्नी ने रोते रोते सिर्फ ये कहने लगी सभी झूठे वादे करते हैं – खगडिय़ा के पूर्व डीएम अनिरुद्ध कुमार ने शहीद के परिजन को हर संभव सहायता प्रदान करने की वादे किए थे लेकिन अब तक न ही सरकार एवं किसी जन प्रतिनिधि से कुछ लाभ मिल पाया।यहाँ तक मानो जो नियम कानून बनाये गए हैं शहीद के पत्नी को कोई नौकरी एवं इनके शहीद होने पर जो भी प्रति महिना पेंशन मिलेगी अब तक एक साल हो गए लेकिन मुझे अब तक वंचित रखा गया है।इसलिए वर्तमान जिलाधिकारी एवं पुलिस कप्तान से शहीद की पत्नी गुहार लगा रही है कोई लाभ दिया जाय क्योंकि मेरे घर में उनकी ही कमाई से घर परिवार चलती थी लेकिन अब मेरे घर की ऐसी स्थिति बन गई है कर्ज लेकर खाना खाना पर मजबूर हो गई हूँ। लेकिन कोई मेरा सुनने को तैयार नही है ।उनकी पत्नी ने कही मैं सभी कागजात बनवाने हेतू कभी मुंगेर तो कभी पटना के दफ्तर में चक्कर काट रही हूँ लेकिन आज एक साल पूरे हो गई इनकी कुर्वानी की कोई सहारा देने को तैयार नही है।मुझे दो छोटे- छोटे बच्चे हैं कैसे करूँगी इन बच्चे की पालन पोषण मैं सरकार से आपके चैनल के माध्यम से कहना चाहती हूँ कि मुझे जल्द से जल्द न्याय मिले।शहादत पर गर्व है जिले के लोगों को तो वहीं इनके घर पर गाँव वाले ने शोक सभा आयोजित कर भावपूर्ण श्रद्धांजलि दिए।गांव में पसर गया पुनः मातमी सन्‍नाटा।इस पर उनके पिता बकरुदीन को आंखों में आसूँ आ गए और वे कह दिए खुद को संभालते हुए , ऐ खुदा, यह क्या किया। उससे तो हमें अभी बड़ी आशाएं थीं। और अंत मे शहीद के भाई दुलार ने एक गाने की भाव से कहा :- कश्मीर के पूँछ में हो ड्यूटी करे जवान ,जावेद उनकर नाम ,हे हो भैया हो,देलकै हँसते हँसते अपन जान हे हो भैया हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here